खेत मे लगी मोटर चोरी

बाबन । ग्राम मुजाहिद्पुर निवासी सुनील कुमार के खेत मे बोरिंग पर लगे बिजली मोटर गेहूँ की फसल की सिचाई के लगी थी बिजली मोटर चोर खोलकर ले गये हे इसकी जानकारी बाबन पुलिस चौकी मे दी है ।

Skip to content

Sanghpriyagautam

Menu
Author: sanghpriyagautam
Press
The DASTAK 24
sanghpriyagautam Uncategorized Leave a comment 6th Dec 2018 Edit “The DASTAK 24”
श्रीमदभागवत पुराण सुनने से मनुष्य के पापो
से मुक्ति मिलती है ।
बावन भआगवत ज्ञान्य्ज्ञ कुसमा माता की समिति

ने बताया कि 5 दिसंबर से 11 दिसंबर तक कुसमा माता के मन्दिर के परिसर मे भागवत महा पुराण का आयोजन किया जा रहा है बुधबार को कलश यात्रा के साथ भागवत महापुराण शुरु हो गयी है कुसमा माता के मन्दिर से बएन्डबाजा के साथ कलस यात्रा जो मुखय मार्गों से होती हुईं माँ कुसमा के मन्दिर पर पहुची इसमे महिलाए एवं पुरुष नाचते भजन गाते झूमते चल रहे थे कथा के मुखय अतिथि दीपक त्रिवेदी स्प्त्नी सहित सिर पर भागवत को रख कर पैदल यात्रा के साथ आगे चल रहे थे

sanghpriyagautam Uncategorized Leave a comment 6th Dec 2018 0 MinutesEdit

sanghpriyagautam Uncategorized Leave a comment 5th Dec 2018 0 MinutesEdit
The Journey Begins
Thanks for joining me!

Good company in a journey makes the way seem shorter. — Izaak Walton

sanghpriyagautam Uncategorized Leave a comment 1st Dec 2018 0 MinutesEdit “The Journey Begins”
Create a free website or blog at WordPress.com.
Close and accept Privacy & Cookies: This site uses cookies. By continuing to use this website, you agree to their use.
To find out more, including how to control cookies, see here: Cookie Policy

श्रीमदभागवत पुराण सुनने से मनुष्य के पापो

से मुक्ति मिलती है ।

बावन भआगवत ज्ञान्य्ज्ञ कुसमा माता की समिति

ने बताया कि 5 दिसंबर से 11 दिसंबर तक कुसमा माता के मन्दिर के परिसर मे भागवत महा पुराण का आयोजन किया जा रहा है बुधबार को कलश यात्रा के साथ भागवत महापुराण शुरु हो गयी है कुसमा माता के मन्दिर से बएन्डबाजा के साथ कलस यात्रा जो मुखय मार्गों से होती हुईं माँ कुसमा के मन्दिर पर पहुची इसमे महिलाए एवं पुरुष नाचते भजन गाते झूमते चल रहे थे कथा के मुखय अतिथि दीपक त्रिवेदी स्प्त्नी सहित सिर पर भागवत को रख कर पैदल यात्रा के साथ आगे चल रहे थे